अपनी ही Nexon को पछाड़कर सेल्स में आगे निकली Tata motors की ये कार, देती है 300km की रेंज

tata-tiago-ev

Electric car: भारत में इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री तेजी से बढ़ रही है। इस वर्ष की दूसरी तिमाही में, इलेक्ट्रिक वाहनों (बीईवी) की बिक्री 26,794 यूनिट्स रही, जो पैसेंजर वाहन बिक्री में 2.7 प्रतिशत हिस्सेदारी रखती है। यह पहली तिमाही में बेची गई 21,109 यूनिट्स से अधिक है। इसकी तुलना में, 2021 की पहली तिमाही में बिक्री 0.3 फीसदी हिस्सेदारी के साथ 2,384 यूनिट्स थी।

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतें भी वजह हैं की लोग इलेक्ट्रिक गाड़ियों की ओर रुख कर रहे हैं। उससे भी बड़ी बात ये है की सरकार इलेक्ट्रिक गाड़ियों पर सब्सिड़ी भी दे रही है, जिसके कारण कम कीमत में इलेक्ट्रिक गाड़ियों को बेचना मुमकिन हो पा रहा है। आइए जानते हैं की रही है इलेक्ट्रिक कारों की सेल पिछली तिमाही में।

टॉप तीन पोजीशन पर टाटा मोटर्स की गाड़ियों का कब्ज़ा रहा है, इसमें टियागो (Tata Tiago ev) नेक्सॉन (Nexon ev) और टिगोर (Tigor ev) शामिल हैं। टियागो हैचबैक ने 2023 की दूसरी तिमाही में 10,695 यूनिट्स की बिक्री की, इन आंकड़ों के साथ इलेक्ट्रिक कार बाजार में टिआगो की हिस्सेदारी 40 प्रतिशत है।

ये भी पढ़ें: Honda Elevate से लेकर Skoda Kushaq तक, बेहतरीन फीचर्स और माइलेज से है लैस

19 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ दूसरे नंबर पर मौजूद नेक्सॉन की बिक्री 5,072 यूनिट्स रही है। 12 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ टाटा टिगोर तीसरे नंबर बनी हुई है, पिछली तिमाही में इस कार के 3,257 यूनिट की बिक्री हुई थी।

XUV400 महिंद्रा की पहली इलेक्ट्रिक एसयूवी है। यह एसयूवी 2023 की दूसरी तिमाही में 2,234 यूनिट्स की बिक्री के साथ इलेक्ट्रिक सेगमेंट में 8 फीसदी हिस्सेदारी के साथ चौथे नंबर पर रही। इसकी कीमत 15.99 लाख रुपये से लेकर 18.99 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) के बीच है और अभी इसके लिए 6 महीने की वेटिंग चल रही है।

हाल ही में लॉन्च हुई एमजी कॉमेट ईवी ने भी बेहतर परफॉर्म किया है। 7 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ पिछली तिमाही में एमजी कॉमेट ईवी के 1,914 यूनिट्स की बिक्री हुई है। कॉमेट ईवी भारत में बिकने वाली सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक कार है। इसकी कीमत 7.98 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) से शुरू हो जाती है और अभी इसके तीन वैरिएंट्स पेस, प्ले और प्लश में बेचा जा रहा है। जल्द ही इसे अपडेट भी किया जा सकता है, हालांकि आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है।

2 साल से मीडिया क्षेत्र से जुड़े हर्ष सिंह मोटर रडार को अपने कार्यों से लगातार योगदान दे रहे हैं। जिसमें हर्ष ऑटोमोबाइल बीट पर काम कर रहे हैं। इनके लेखनी को मोटर रडार के पाठकों द्वारा काफी पसंद भी किया जाता है। आपको जान कर हैरानी होगी की एक छोटे संस्थान से शुरुआत करने वाले हर्ष सिंह अपने करियर में साल 2023 में ग्रुप से जुड़े। इन्होंने 9 महीनों तक विभिन्न साइटो को अपनी सेवा प्रदान की। अब मोटर रडार को योगदान दे रहे हैं।