भारत में इलेक्ट्रिक वाहन: पेट्रोल और डीजल के बढ़े हुए दाम से देश में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए अनुकूल माहौल बन गया है. वहीं केंद्र सरकार भी इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद को बढ़ावा देने की कोशिश कर रही है। इसलिए देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या बढ़ती जा रही है।

भारत में इलेक्ट्रिक वाहन

नई दिल्ली: भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या: भारत में अब लोग बड़ी संख्या में इलेक्ट्रिक वाहन खरीद रहे हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि भारत में अब तक कितने इलेक्ट्रिक वाहन बेचे जा चुके हैं? क्या आपको पता है कि भारत में सड़कों पर कितने इलेक्ट्रिक वाहन दौड़ रहे हैं? नहीं तो कोई बात नहीं। क्योंकि हम आपको इसकी जानकारी देंगे। क्योंकि केंद्र सरकार ने यह जानकारी दी है। केंद्र सरकार की ओर से जारी आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक भारत में कुल 13 लाख 34 हजार 385 इलेक्ट्रिक वाहन सड़कों पर दौड़ रहे हैं. तो भारत में 27,81,69,631 गैर-इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग किया जा रहा है। यह आंकड़े 14 जुलाई 2022 तक के हैं।

यह भी पढ़े: – नए अवतार में वापसी करेगी Renault Duster, मिलेगा दमदार फीचर्स…

मुख्य विशेषताएं:

  • भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या में वृद्धि
  • देश में 13 लाख से ज्यादा Electric Vehicals
  • उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा Electric Vehicals

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के ई-वाहन पोर्टल पर दी गई जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश में इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या सबसे अधिक है। इसकी सड़कों पर 3,37,180 ई-वाहन चल रहे हैं। जबकि दिल्ली में 1,56,393 ई-वाहन, कर्नाटक में 1,20,532, महाराष्ट्र में 1,16,646 और ओडिशा में 23 हजार 371 इलेक्ट्रिक वाहन चल रहे हैं। आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, तेलंगाना और लक्षद्वीप के राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के आंकड़े इस पोर्टल पर उपलब्ध नहीं हैं। भारी उद्योग राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने आज लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि केंद्र सरकार भारत में ई-वाहनों के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए काफी प्रयास कर रही है।

Kia EV6

इलेक्ट्रिक वाहनों का इस्तेमाल बढ़ाने की केंद्र की पहल

FAME India (भारत में हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक वाहन) योजना 2015 में भारत में जीवाश्म ईंधन (जैसे पेट्रोल-डीजल) पर निर्भरता को कम करने और वाहनों के कारण होने वाली प्रदूषण की समस्याओं को हल करने के लिए शुरू की गई थी। इस योजना का दूसरा चरण 2019 से शुरू किया गया था। इस चरण को पांच साल करने के लिए 10 हजार करोड़ रुपये की घोषणा की गई है।

यह भी पढ़े: – सिर्फ 85 हजार में घर लाएं Hyundai Venue पॉपुलर SUV, जानिए कैसे

इलेक्ट्रिक वाहनों और चार्जिंग स्टेशनों पर जीएसटी में कमी इलेक्ट्रिक वाहनों

पर जीएसटी को 12% से घटाकर 5% कर दिया गया है। साथ ही इलेक्ट्रिक वाहनों के चार्जर/चार्जिंग स्टेशनों पर जीएसटी को 18 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर दिया गया है। इलेक्ट्रिक वाहनों को ग्रीन लाइसेंस प्लेट दी जा रही हैं। साथ ही उन्हें परमिट नियमों से छूट दी गई है।

यह भी पढ़े: – शानदार फीचर्स के साथ आने वाली है KIA EV6 इलेक्ट्रिक कार, देखें कैसे हैं फीचर्स…..

4.7 लाख इलेक्ट्रिक वाहन..

सब्सिडी वाले इलेक्ट्रिक वाहनों पर रोड टैक्स माफ करने पर विचार कर रहे हैं। इससे ई-वाहन खरीदने की शुरुआती लागत में कमी आएगी। फेम 2 के तहत देश के 25 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के 68 शहरों में 2877 ई-वाहन चार्जिंग स्टेशन स्वीकृत किए गए हैं। साथ ही 9 एक्सप्रेसवे और 16 हाईवे पर 1576 चार्जिंग स्टेशन स्वीकृत किए गए हैं। साथ ही FAME योजना के तहत अब तक 4.7 लाख इलेक्ट्रिक वाहनों को सब्सिडी दी गई है।

Latest Post:-

Devansh Shankhdhar

देवांश शंखधार मोटर राडार में कॉपी एडिटर के पद पर कार्यरत है। इनको 2 साल का ऑटोमोबाइल न्यूज़ राइटिंग का अनुभव है। साथ ही इन्होंने एंटरटेनमेंट व टेक जैसी बीट पे भी काम किया है।