ePluto 7G Max: एक बार चार्ज में 200 किमी, Pure EV ने Diwali से पहले लॉन्च किया किफायती ई-स्कूटर

Pure EV launches ePluto 7G Max E-Scooter

दिवाली और दशहरा त्योहारी सीजन से पहले Pure EV अपने नए इलेक्ट्रिक स्कूटर से सबको हैरान कर दिया है। कंपनी ने शानदार माइलेज के साथ भारत में ePluto 7G Max नाम से एक नया इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च करने की घोषणा की है। इसकी कीमत 1,14,999 रुपये (एक्स-शोरूम) है। प्योर ईवी ने इस रेट्रो थीम वाले ई-स्कूटर की बुकिंग पहले ही शुरू कर दी है। दिवाली से पहले डिलीवरी शुरू होने की उम्मीद है। ePluto 7G Max ई-स्कूटर के लॉन्च के साथ कंपनी का लक्ष्य इस साल कुल बिक्री को बढ़ाना है।

Pure EV ने ePluto 7G Max ई-स्कूटर लॉन्च किया

मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ePluto 7G Max एक बार फुल चार्ज होने पर 201 किमी (टेस्टिंग रेंज) तक चल सकता है, जो कि कीमत के हिसाब से वाकई अविश्वसनीय है। यह इलेक्ट्रिक स्कूटर कई एडवांस फीचर्स से लैस है, जैसे की- हिल-स्टार्ट असिस्ट, डाउनहिल असिस्ट, कोटिंग रीजेन, रिवर्स मोड, स्मार्ट एआई आदि। रेट्रो-थीम वाला ई-स्कूटर चार अलग-अलग रंगों – मैट ब्लैक, रेड, ग्रे और व्हाइट में उपलब्ध होगा।

Pure EV ePluto 7G Max: बैटरी और मोटर

Pure ePluto 7G Max में पहियों को पावर देने के लिए 3.5 kWh का लिथियम-आयन बैटरी और एक हाई पावर इलेक्ट्रिक मोटर दिया गया है, जिसका आउटपुट 3.21 bhp है। बैटरी पानी और धूल का भी प्रतिरोध करेगी क्योंकि यह AIS-156 सर्टिफाइड है। यह इलेक्ट्रिक स्कूटर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस संचालित स्मार्ट बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम के साथ आता है।

Pure EV ePluto 7G Max: फीचर

Pure ePluto 7G Max में तीन राइडिंग मोड हैं। कंपनी ने कहा कि वे इस स्कूटर की बैटरी पर 60,000 किमी की स्टैंडर्ड और 70,000 किमी की एक्सटेंडेड वारंटी दे रहे हैं। डिज़ाइन की बात करें तो ePluto 7G Max पुराने स्कूल रेट्रो स्टाइल के साथ आता है। इसमें एलईडी लाइट्स और फुल डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर दिया गया है। स्कूटर में स्मार्ट रीजेनरेटिव टेक्नोलॉजी, रिवर्स मोड असिस्ट और पार्किंग असिस्ट फीचर्स मिलते हैं। साथ ही ऑटो पुश फ़ंक्शन ePluto 7G Max को 5 किमी प्रति घंटे की स्पीड से आगे बढ़ने में मदद करेगा।

रीतेश सिंह मोटर राडार के को-फाउंडर और संपादक के पद पर कार्यरत हैं। विभिन्न संगठन के साथ ऑटो व्लॉगिंग में उनका 10 साल का अनुभव है। उन्होंने टेक्नोलॉजी, सोशल वर्क जैसी बीट पर भी काम किया है।