CNG कार से हट गया भारतीय कस्टमर्स का मन? आखिर क्या रहे 2.5 रुपये…

cng-car

CNG Car: माइलेज की वजह से सभी के बीच चर्चा का विषय बनी रहीं CNG कारों से जुड़े कुछ आंकड़े हैरान कर रहे हैं। पिछले साल सीएनजी कारों की ठीक-ठाक बिक्री हुई थी, जो इस बार गिर गई है। चलिए विस्तार से जानते हैं की क्या है पूरी खबर। दरअसल, हाल ही में जारी हुई एक रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है की भारत में सीएनजी कार की डिमांड कम हुई है, ये आंकड़े 2023 के पहले 6 महीने यानी की जनवरी से जून के बीच के हैं। आंकड़ों के मुताबिक 2023 की पहली छमाही में सीएनजी कारों की बिक्री में 5.4% की गिरावट देखने को मिली है।

इसी समय के दौरान साल 2022 में 1,66,023 यूनिट सीएनजी कारों की बिक्री हुई थी, जो इस साल 1,56,983 यूनिट रही है। इन छह महीनों में जनवरी और जून को छोड़ दें तो बाकी महीने में सेल निचे की ओर आई है। जनवरी 2023 में सीएनजी कार की सालाना बिक्री 38.5% बढ़ी थी, ये फरवरी में 21.79% फीसदी निचे आई, मार्च में 25.39% निचे, अप्रैल में 20.24% निचे, मई में 2.5% निचे रही थी, हालांकि पिछले महीने यानी की जून में सीएनजी कार की सेल्स में सालाना आधार पर 7.36 फीसदी की ग्रोथ देखने को मिली है।

देश की सबसे बड़ी कार मेकर कंपनी Maruti Suzuki सीएनजी कार बेचने में भी नंबर एक रही है, पिछले छह महीने में मारुती ने 1,15,484 यूनिट्स की बिक्री की है। इसके साथ ही सीएनजी कार मार्केट में मारुती सुजुकी की हिस्सेदारी 16.6% हो जाती है। दूसरे नंबर पर आती है Hyundai motor, इस कंपनी ने पिछले 6 महीने में 22,625 यूनिट सीएनजी कार्स की बिक्री की है।

ये भी पढ़ें: क्या सच में Mahindra लेकर आने वाली है Scorpio Electric? ये रही बेसिक जानकारी

औसतन भारत में चलने वाली सीएनजी गाड़ियां 25 से 30 का माइलेज देती हैं, ऐसे में कार को ड्राइव करने में प्रति किलोमीटर करीब 2.5 रुपये का खर्च आता है। ऐसा देखा गया है की कम खर्च की वजह से कस्टमर cng की ओर रुख कर रहे हैं, लेकिन कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक सीएनजी के साथ गाड़ियों की ताकत और टॉर्क में कमी देखने को मिलती है, जोकि पेट्रोल और डीजल वेरिएंट्स के साथ नहीं है। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट्स से राय ले सकते हैं।

2 साल से मीडिया क्षेत्र से जुड़े हर्ष सिंह मोटर रडार को अपने कार्यों से लगातार योगदान दे रहे हैं। जिसमें हर्ष ऑटोमोबाइल बीट पर काम कर रहे हैं। इनके लेखनी को मोटर रडार के पाठकों द्वारा काफी पसंद भी किया जाता है। आपको जान कर हैरानी होगी की एक छोटे संस्थान से शुरुआत करने वाले हर्ष सिंह अपने करियर में साल 2023 में ग्रुप से जुड़े। इन्होंने 9 महीनों तक विभिन्न साइटो को अपनी सेवा प्रदान की। अब मोटर रडार को योगदान दे रहे हैं।