कार की डिलीवरी लेने से पहले जांच लें ये 5 बातें, नहीं तो जिंदगी भर पछताना पड़ेगा

pre delivery inspection checklist

प्री-डिलीवरी चेकिंग यानी नई कार की डिलीवरी लेने से पहले अच्छे तरह से कार की चेकिंग। यानी नई कार की डिलीवरी लेने से पहले कई चीजों की बारीकी से जांच करनी पड़ती है। कई लोग यह भी कह सकते हैं कि अगर आप नई कार खरीदते हैं तो उसका चेकिंग की क्या जरुरत है? इसे आंखें बंद करके घर ले ला सकते है। लेकिन कई बार पुरानी कारों को रिपेयर करके ग्राहकों को सौंपने का चलन कई जगहों पर देखने को मिला है। तो कार खरीदने से पहले जागरूक रहना बहुत जरुरी होता है। साथ ही कार में कई इलेक्ट्रॉनिक फीचर्स भी होते हैं, जिन्हें खरीदने से पहले जांचना जरूरी होता है। लेकिन बिना अधिक समय बर्बाद किए आइए उन कुछ बातों पर नजर डालते हैं जिन्हें कार की डिलीवरी लेने से पहले आपको ध्यान में रखना बहुत जरूरी होता है।

Exterior-

कार किसी चीज से रगड़ जाती है तो सबसे पहले बाहरी पेंट खराब होता है, और यदि प्रभाव जोरदार होता है, तो बाहरी पैनल मुड़ सकता है या डैमेज हो सकता है। इसीलिए नई कार के सभी बाहरी हिस्सों, दरवाजे के चारों ओर, सामने के फेंडर और यहां तक ​​कि छत के बाहरी हिस्से की भी सावधानीपूर्वक जांच कर लेना चाहिए। याद रखें कि नई कार के बाहरी हिस्से के पेंट पर प्रकाश का प्रतिबिंब समान रूप से दिखना चाहिए, अगर आपको कहीं भी कलर में कोई बदलाव नजर आए तो सतर्क हो जाएं। यहां तक ​​कि यह भी जांच लें कि विंडशील्ड और खिड़की का शीशा सही है या नहीं।

ये भी पढ़े- 100 किमी चलेगी सिर्फ 10 रुपये में! पुरानी यादें को ताज़ा करने के लिए लॉन्च हुआ Kinetic E-Luna

Interior-

हम केवल यह उम्मीद कर सकते हैं कि नई कार का इंटीरियर सही होगा। अगर आपके द्वारा चुने गए वेरिएंट के इंटीरियर में कंपनी द्वारा दिए गए ब्रोशर में फीचर्स न हो तो सावधान हो जाएं। साथ ही, यह सुनिश्चित करना भी जरूरी है कि कार की सीटें, डैशबोर्ड के हिस्से, एयर कंडीशनर, हीटर, म्यूजिक सिस्टम, अलग अलग स्विच, बटन, पोर्ट, लाइटें सभी ठीक से काम कर रहा है की नहीं।

Engine-

किसी भी कार की जान उसका इंजन होता है। अगर इंजन में दिक्कतें शुरू से ही आ जाएं तो आपकी कार खरीदने की खुशी लगभग गम में बदल जाती है। नई कार में इंजन ऑयल सही स्तर पर है या नहीं यह जांचने के लिए डिपस्टिक का उपयोग करें। इंजन में लिक्विड कूलिंग सिस्टम और विंडशील्ड डिस्पेंसर में लीक की भी जाँच करें। यदि इंजन के चारों ओर अलग अलग नटबोल्ट बिल्कुल नई स्थिति में हैं, तो कहीं भी खुलने का कोई संकेत नहीं होगा। इसलिए शुरुआत में ही अच्छे तरीके से इंजन कम्पार्टमेंट की जाँच कर ले।

ये भी पढ़े- Tata Nexon EV, MG ZS EV को टक्कर देने आ रही है Mahindra XUV400 Pro

Suspension-

अपने पसंदीदा मॉडल को बुक करने से पहले उसकी टेस्ट ड्राइव अवश्य कर लें। जिससे, आप निश्चिंत हो सकते हैं कि कहीं सस्पेंशन में अजीब आवाजें तो नहीं आ रहा है या सस्पेंशन ठीक से काम कर रहा है की नहीं। यदि जरुरी हो, तो फ्रंट बोनट के अंदर लगे फ्रंट सस्पेंशन कवर को हटा के अच्छे से चेक कर ले।

Tires and Brakes-

डिलीवरी से पहले चारों टायरों की सावधानीपूर्वक जांच करें। देखे कि सभी चार टायर एक ही कंपनी द्वारा निर्मित हैं या नहीं। यह जांचना भी महत्वपूर्ण है कि रियर ब्रेक कैलीपर बिल्कुल नया है या बदल दिया गया है। इसके अलावा चारों पहियों पर ब्रेक सही से लग रहा है की नहीं, ये भी सही से चेक कर लें।

Latest Post-

रीतेश सिंह मोटर राडार के को-फाउंडर और संपादक के पद पर कार्यरत हैं। विभिन्न संगठन के साथ ऑटो व्लॉगिंग में उनका 10 साल का अनुभव है। उन्होंने टेक्नोलॉजी, सोशल वर्क जैसी बीट पर भी काम किया है।