Gearbox: क्या आपको भी सिर्फ मैन्युअल और ऑटोमैटिक गियर बॉक्स की जानकारी है? यहां जानते हैं कुछ नया

Harsh Singh
3 Min Read
car-gearbox-types

Gearbox: तेजी से आधुनिकता की ओर अग्रसर भारतीय ऑटोमोबाइल मार्केट में कई ऐसी चीजें हैं, जो कुछ लोगों को ही पता हैं। इन्हें जानने वालों की संख्या न के बराबर है और आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से एक ऐसी जानकारी देने वाले हैं, जो सभी को नहीं पता हैं। आप गियर बॉक्स तो जानते ही होंगे, गियर बॉक्स मतलब जहां से कार गियर इंडीकेट किया जाता और उसकी के मुताबिक कार अपना स्पीड चेंज करती है। हमने अबतक ऑटोमेटिक और मैन्युअल गियर ट्रांसमिशन के बारे में ज्यादा सुना है, लेकिन क्या आपको पता है की भारत में अबतक 5 से 6 अलग-अलग गियर बॉक्स आ चुके हैं। आइए इन्हीं में से कुछ के बारे में जानते हैं।

मैन्युअल गियर बॉक्स

मैन्युअल गियर बॉक्स का प्रयोग काफी समय से किया जा रहा है और या फिर ये भी कह सकते हैं की ये सबसे पहला गियर बॉक्स है। मैन्युअल गियर बॉक्स को ऑपरेट करने के लिए ड्राइवर को क्लच का इस्तेमाल करना होता है। ये फीचर आजकल कम कीमत वाली कारों में देखने को मिलता है।

ऑटोमैटिक गियर बॉक्स

ऑटोमैटिक गियर बॉक्स इस समय सबसे अधिक डिमांड में है, आजकल लगभग सभी गाड़ियों में इसका सपोर्ट दिया जा रहा है। कार ड्राइव करते समय इसे बदलने के लिए क्लच का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। ऑटोमैटिक गियर बॉक्स को ऑपरेट करने के लिए हाईड्रालिक फ्ल्युइड कपलिंग और टार्क कन्वर्टर का इस्तेमाल किया जाता है। इससे कार के इंजन को बिना रुके आराम से चलने में मदद मिलती है।

ये भी पढ़ें: Car Tyre Care Tips: अगर आप भी करते हैं बारिश में ड्राइव तो अपने टायर के लिए करें…

डुअल क्लच ट्रांसमिशन

डुअल क्लच ट्रांसमिशन को ऑटोमैटिक और मैन्युअल का कॉम्बो बोल सकते हैं, इसे चेंज करने के लिए क्लच के साथ अलग से दो शिफ्टर दिए जाते हैं। इसमें टॉर्क कनवर्टर नहीं दिया जाता है।

इंटेलीजेंट मैन्युअल ट्रांसमिशन

इंटेलीजेंट मैन्युअल ट्रांसमिशन इन सभी से आसान माना गया है, इसका सबसे बड़ा लाभ है किक्लच को मैनुअली ऑपरेट करने की जरूरत नहीं पड़ती है। आईएमटी एक मैन्युअल गियरबॉक्स है जिसे इस प्रकार से बनाया गया है की इसे ड्राईवर से क्लच इनपुट की आवस्यकता नहीं पड़ती। यह गियरबॉक्स ट्रांसमिशन कंट्रोल यूनिट को नोटिफाई करता है की ड्राईवर कब गियर चेंज करने वाला है।

Latest posts:-

Share This Article
Follow:
2 साल से मीडिया क्षेत्र से जुड़े हर्ष सिंह मोटर रडार को अपने कार्यों से लगातार योगदान दे रहे हैं। जिसमें हर्ष ऑटोमोबाइल बीट पर काम कर रहे हैं। इनके लेखनी को मोटर रडार के पाठकों द्वारा काफी पसंद भी किया जाता है। आपको जान कर हैरानी होगी की एक छोटे संस्थान से शुरुआत करने वाले हर्ष सिंह अपने करियर में साल 2023 में ग्रुप से जुड़े। इन्होंने 9 महीनों तक विभिन्न साइटो को अपनी सेवा प्रदान की। अब मोटर रडार को योगदान दे रहे हैं।